सामान्‍य जानकारी

स्‍थान

यह संग्रहालय मूसी नदी के दक्षिणी तट पर स्थित है और यह पुराने शहर के अन्‍य महत्‍वपूर्ण स्‍मारकों के पास भी है. ऐतिहासिक चारमिनार, मक्‍का मस्जिद, उच्‍च न्‍यायालय, राज्‍य का केंद्रीय पुस्‍तकालय और उस्‍मानिया जनरल अस्‍पताल – ये सभी महत्‍वपूर्ण स्‍थल सलारजंग संग्रहालय से केवल एक मील की दूरी के भीतर हैं.

सलारजंग संग्रहालय कैसे पहुंचे

सड़क और रेल मार्ग द्वारा सलारजंग संग्रहालय तक आसानी से पहुंचा जा सकता है. काचीगुडा और नामपल्‍ली जैसे दो महत्‍वपूर्ण स्‍टेशन यहां से तीन मील की दूरी के भीतर हैं. सड़क परिवहन की बसें शहर के सभी भागों से अफज़लगंज तक लगातार चलती रहती हैं, जो कि इस संग्रहालय से मात्र चहलकदमी की दूरी पर है.


history

संग्रहालय में ...

यह संग्रहालय तीन भवनों – सेंट्रल ब्‍लॉक, पूर्वी ब्‍लॉक (मीर लायक अली खान भवन) और पश्चिम ब्‍लॉक (मीर तुराब अली खान भवन) की दो मंजिलों पर बनी 39 गैलरियों में फैला है. सेंट्रल ब्‍लॉक में 26 गैलरियां, जिसमें निचली मंजिल पर 13 और पहली मंजिल पर 13 गैलरियां हैं, पश्चिम ब्‍लॉक में 7 गैलरी हैं और पूर्वी ब्‍लॉक में 6 गैलरी हैं.

इस संग्रहालय में शिक्षा स्‍कंध, रसायन संरक्षण प्रयोगशाला, फोटो सेक्‍शन , प्रदर्शनी सेक्‍शन , स्‍वागत और विक्रय काउंटर जैसे कई समन्‍वयन सेक्‍शन हैं. इस संग्रहालय की सुरक्षा केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल द्वारा की जाती है.

दर्शकों के लिए सुविधाएं

दर्शकों की सुविधा के लिए सभी महत्वपूर्ण स्थानों पर बैठने की व्यवस्था की गई है. जरूरतमंद व्यक्तियों के लिए विश्रामकक्ष और व्‍हील चेयर भी की भी व्‍यवस्‍था है.

इस संग्रहालय में सभी ‍दिशा बतानेवाले स्‍थानों पर अमानती सामान कक्ष, विश्रामकक्ष और तेंलगाना पर्यटन विभाग द्वारा चलाये जा रहे कैफेटेरिया जैसी जन सुविधाएं उपलब्ध हैं.

प्रकाशन

विद्वानों और शोधकर्त्‍ता छात्रों और इच्छुक दर्शकों की आवश्‍यकताओं को पूरा करने के लिए यह संग्रहालय कई महत्‍वपूर्ण संग्रहों पर कैटलॉग का प्रकाशन करता है. शोधकर्त्‍ताओं की सुविधा के लिए इस संग्रहालय द्वारा ‘सलारजंग संग्रहालय द्विवा‍र्षिक शोध जर्नल’ के प्रकाशन के अलावा इस संग्रहालय द्वारा फारसी, अरबी और उर्दु पांडुलिपियों, विशेष लेखों के कैटलॉग प्रकाशित किए जा चुके हैं.

संग्रहालय के लोकप्रिय प्रकाशन, जिसमें संग्रहण - सामग्री संबंधी छोटी पुस्तिकाएं और पिक्‍चर पोस्‍टकार्ड होते हैं, को सेंट्रल ब्‍लॉक की निचली मंजिल पर बनी एचएचईसी स्‍मारिका दु‍कान में बेचे जाते हैं.

history

विद्वानों के लिए सुविधाएं

संग्रहालय में विभिन्न विषयों पर मुद्रित पुस्‍तकों का समृद्ध संग्रह है. साथ ही, फारसी, अरबी और उर्दू भाषाओं में हजारों पांडुलिपियों का समृद्ध संग्रह भी है. विद्वानों को रिसेप्शन काउंटर से पास प्राप्त करने के बाद अनुरोध पर पुस्तकालय का उपयोग करने की अनुमति है.

श्रव्‍य मार्गदर्शक (ऑडियो गाइड )

संग्रहालय ने दर्शकों की सुविधा के लिए ऑडियो गाइड सिस्टम आरंभ किया है. यह सुविधा अंग्रेजी, हिंदी और तेलुगू भाषाओं में हैं. ऑडियो गाइड सेट सेंट्रल फोयर के ग्राउंड फ्लोर में 60 / - रुपये के भुगतान पर‍ दिए जाते हैं.